Total Visitors : 3 9 4 8 5 0 6

15 से ज्यादा मेट्रो स्टेशन बंद,परीक्षाएं टली ...

नागरिकता कानून....

नागरिकता कानून पर देशभर में विरोध प्रदर्शन लगातार बढ़ रहे हैं। दिल्ली के जामिया नगर में इस कानून के खिलाफ हो रहा प्रदर्शन रविवार को हिंसक हो गया। प्रदर्शनकारियों ने तीन बसों में आग लगा दी और एक फायर ब्रिगेड की गाड़ी में भी तोड़फोड़ की। हिंसा को देखते हुए भारी पुलिस बल तैनात किए गए। वहीं, पुलिस ने जामिया मिल्लिया इस्लामिया विश्वविद्यालय में घुसकर छात्रों और शिक्षकों के साथ मारपीट की। साथ ही पुलिस ने पत्रकार के साथ भी कथित तौर पर मारपीट की। दिल्ली में हो रहे प्रदर्शन को लेकर अरविंद केजरीवाल और मनोज तिवारी ने भी ट्वीट किए। आइए जानते हैं अब तक क्या-क्या हुआ...

जामिया की कुलपति ने क्या कहा?

जामिया मिल्लिया इस्लामिया की कुलपति नजमा अख्तर ने प्रदर्शन को लेकर कहा, "विश्वविद्यालय की ओर से प्रदर्शन को लेकर छात्रों को कोई सूचना नहीं दी गई थी। मुझे बताया गया है कि जामिया के नजदीक कॉलोनियों से जुलैना की ओर मार्च करने के लिए कहा गया। प्रदर्शनकारी पुलिस से भिड़ गए और विश्वविद्यालय का गेट तोड़ने के बाद परिसर के अंदर घुस गए। उन्होंने कहा कि पुलिस लाइब्रेरी में बैठे छात्रों और प्रदर्शनकारियों के बीच अंतर को नहीं समझ पाई। कई छात्र घायल है। 

पुलिस मुख्यालय में प्रदर्शन, 15 से ज्यादा मेट्रो स्टेशन बंद

प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज और जामिया में घुसकर पुलिस द्वारा कथित बर्बरता के खिलाफ पुलिस मुख्यालय के बाहर जामिया के छात्र प्रदर्शन कर रहे हैं। साथ ही पुलिस के खिलाफ नारेबाजी कर रहे हैं। पुलिस मुख्यालय में हजारों की संख्या में लोग प्रदर्शन कर रहे हैं। जामिया नगर इलाके में रविवार को हुए हिंसक प्रदर्शन के कारण 15 से ज्यादा मेट्रो स्टेशनों को बवाल की आशंका को देखते हुए बंद करना पड़ा। देर रात तक इन स्टेशनों पर कोई ट्रेन नहीं रोकी गई, जिससे यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ा। डीएमआरसी ने दिल्ली पुलिस की सलाह के आधार पर जामिया इलाके में उपद्रव बढ़ने के कारण पहले शाम करीब 5:45 मिनट पर सुखदेव विहार मेट्रो स्टेशन के प्रवेश और निकास द्वारों व आश्रम मेट्रो स्टेशन के गेट नंबर-3 को बंद किया गया। इस दौरान में आगजनी की घटनाओं के चलते तत्काल प्रभाव से करीब सवा छह बजे मजेंटा लाइन के सुखदेव विहार, जामिया मिलिया इस्लिामिया, ओखला विहार और जसोला विहार शाहीन बाग मेट्रो स्टेशन को तुरंत बंद कर दिया गया। इसके बाद वसंत विहार, मुनिरका, आरके पुरम और पटेल चौक मेट्रो स्टेशन भी यात्रियों के लिए बंद कर दिए गए।

बंद रहेंगे इलाके के स्कूल, परीक्षाएं टली

जामिया नगर हिंसा को देखते हुए दक्षिण पूर्व जिला के कई स्कूलों को बंद करने का निर्णय लिया गया है। कुछ स्कूलों की ओर से अभिभावकों के मोबाइल पर मैसेज भेजकर इसकी जानकारी दी गई है। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने ट्वीट कर कहा कि दिल्ली में साउथ-ईस्ट जिले में ओखला, जामिया, न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी, मदनपुर खादर क्षेत्र के सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूल सोमवार को बंद रहेंगे। वर्तमान हालात को देखते हुए दिल्ली सरकार ने स्कूल बंद रखने का निर्णय लिया है।जामिया मिल्लिया विश्वविद्यालय में जारी परीक्षाएं टाल दी गई है। साथ ही विश्वविद्यालय को छह जनवरी तक के लिए बंद कर दिया गया है।

दिल्ली पुलिस ने क्या कहा?

दिल्ली पुलिस ने कहा कि जामिया मिल्लिया विश्वविद्यालय में स्थिति नियंत्रण में है। यह एक हिंसक भीड़ थी, जिनमें से कुछ को हिरासत में लिया गया है। वहीं, परिसर में प्रवेश को लेकर पुलिस ने कहा कि हम केवल हिंसा को नियंत्रित करने गए थे। 

परिसर में घुसकर छात्रों और शिक्षकों से मारपीट, 'पुलिस की कार्रवाई निंदनीय'

जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय के अंदर पुलिस के घुसने पर विश्वविद्यालय के चीफ प्रॉक्टर वसीम अहमद ने कहा, "पुलिस ने बल प्रयोग कर परिसर में प्रवेश किया है। प्रवेश को लेकर उन्हे कोई अनुमति नहीं दी गई थी। हमारे कर्मचारियों और छात्रों को पीटा गया है और परिसर छोड़ने के लिए मजबूर किया जा रहा है।
जामिया के वीसी नजमा अख्तर ने पुलिस कार्रवाई को लेकर कहा कि छात्रों को लाइब्रेरी से निकाल लिया गया है। वे अब सुरक्षित हैं। पुलिस कार्रवाई निंदनीय है। इधर, जामिया छात्र संघ ने जामिया नगर में हिंसक प्रदर्शन में छात्रों का हाथ होने से इनकार किया है। जामिया शिक्षक संघ ने भी यही कहा कि उग्र प्रदर्शन में उनके छात्र शामिल नहीं हैं। वे शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन कर रहे हैं।

कालिंदी कुंज में छात्रों का प्रदर्शन,यातायात बाधित,मेट्रो स्टेशन बंद

दिल्ली के ओखला शाहीन बाग इलाके में भी नागरिकता कानून के खिलाफ भारी संख्या में लोगों ने विरोध प्रदर्शन किया। साथ ही जामिया मिल्लिया इस्लामिया विश्वविद्यालय के छात्रों ने कालिंदी कुंज रोड पर जोरदार प्रदर्शन किया और सरकार के खिलाफ नारेबाजी की।
प्रदर्शनों को देखते हुए दिल्ली यातायात पुलिस ने ओखला अंडरपास से लेकर सरिता विहार तक आवाजाही बंद कर दी है। साथ ही पुलिस ने इन रास्तों पर जाने से बचने की भी सलाह दी है। बता दें कि प्रदर्शनकारियों ने मथुरा रोड के विपरित न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी के रास्तों को बंद कर दिया है। हिंसक प्रदर्शन को देखते हुए दिल्ली मेट्रो रेल निगम (डीएमआरसी) ने सुखदेव विहार, जामिया मिल्लिया इस्लामिया, ओखला विहार और जसोला विहार शाहीन बाग मेट्रो स्टेशन को बंद कर दिया है। 

महिला पत्रकार से अभद्रता

प्रदर्शन की कवरेज करने गई बीबीसी महिला पत्रकार बुशरा शेख से पुलिस ने अभद्रता की। उन्होंने कहा कि पुलिस ने मेरा फोन छीन लिया और उसे तोड़ दिया। पुरुष पुलिस कर्मियों ने मेरे बाल खींचे। जब मैंने उनसे अपना फोन मांगा तो उन्होंने मुझे गालियां दीं। मैं यहां मनोरंजन के लिए नहीं आई थी, मैं यहां कवरेज के लिए आई थी। 

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने क्या कहा?

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने राज्य में जारी प्रदर्शनों को लेकर कहा कि कोई भी हिंसक प्रदर्शन में शामिल नहीं हो। किसी भी तरह की हिंसा अस्वीकार्य है। शांतिपूर्ण तरीके से विरोध प्रदर्शन करें।

भाजपा नेता मनोज तिवारी ने क्या कहा?

दिल्ली में नागरिकता संशोधन विधेयक के खिलाफ हो रहे प्रदर्शन को लेकर भाजपा नेता और दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने ट्वीट कर कहा, "केजरीवाल के इशारे पर आप का विधायक जनता को भड़का रहा है। भारत का मुसलमान भारत के साथ है, तुम जैसे गद्दारों की बातों में नहीं आने वाले हैं। लोगों को उकसाना बंद करो। दिल्ली की जनता आप के गद्दारों को सबक सिखाएगी। आप का पाप सामने आ रहा है। 

आसपास के कई दुकान बंद

इस दौरान आसपास के कई दुकानदारों ने डर से अपनी-अपनी दुकाने भी बंद कर ली हैं। सड़क पर विरोध करने उतरे लोगों का गुस्सा देख आसपास के बाजारों के लोग सहमे हुए हैं। सड़क पर भी भीषण जाम लग लगा है। छोटी-बड़ी हर तरह की गाड़ी जाम में फंसी हुई है। इससे पहले जामिया मिल्लिया इस्लामिया विश्वविद्यालय में भी छात्रों ने इस कानून का जमकर विरोध किया था, जिसके बाद पुलिस ने उनपर लाठीचार्ज कर दिया था। हालांकि विश्वविद्यालय प्रबंधन ने सफाई देते हुए कहा कि विरोध यूनिवर्सिटी परिसर के बाहर किया गया था और उसमें बड़ी संख्या में बाहरी तत्व शामिल थे। 

 

Related News

Leave a Reply