Total Visitors : 8 0 6 0 3 8

एक ओर महामारी दूसरी तरफ गरीबों के राशन की लेंमारी ...

ये तेरा कैसा शासन, जिसमें खुलेआम चोरी हो रहा गरीबों का राशन

कोरोना आपदा की इस घड़ी में एक तरफ जहां सरकार ने अपना खजाना देश के गरीब और मजदूरों के लिए खोल दिया है तो वहीं सरकारी मुलाजिमों की देख रेख में खुलेआम तरीके से आपदा की घड़ी को एक सुनहरे अवसर में बदलते हुए इसकी लूट शुरू कर दी।

गरीबों का निवाला छीनने में गदपुरी थाना नहीं है पीछे। एक तरफ गरीब की थाली रह गई खाली दूसरी तरफ गदपुरी थाना ने सरकारी राशन की कालाबाजारी कर डाली। पलवल जिले के गदपुरी थाना के कुछ पुलिस कर्मचारियों के द्वारा करवाया जा रहा है सरकारी राशन की कालाबाजारी का काम। गरीब मजदूरों का रक्षक ही बना भक्षक।

 होटल मालिक व उसके गुर्गे गदपुरी थाने  की मिलीभगत से जोर-शोर से सरकारी गेहूं और चावल की कर रहे कालाबाजारी। कवरेज के दौरान घबराए पुलिसकर्मियों ने दी पत्रकारों को फर्जी मुकदमें में फंसाने की धमकी। हमारे कैमरे देख घबराए पुलिसकर्मी और क्षेत्रीय दबंग। कवरेज के दौरान पत्रकारों को 25 लोगों ने राइफल समेत लाठी-डंडों के साथ घेरा और जान से मारने की दे डाली धमकी। क्षेत्रीय दबंगों के द्वारा सरकारी राशन को गरीबों की थाली से दूर रखने में क्षेत्रीय पुलिस का बहुत बड़ा योगदान। गदपुरी थाना बन गया है क्षेत्रीय दबंगों और गुंडों का सेवक। पूरा मामला कैमरे में कैद होते ही थाने के हेड कॉन्स्टेबल कुशल कुमार पत्रकारों को धमकाने लगे।

पत्रकारों द्वारा जिला प्रशासन को पूरे मामले की जानकारी दी गई जिसके बाद मौके पर कोई भी आला अधिकारी नहीं दिखा। मौके पर खड़ी पुलिस पूरी तरह से क्षेत्रीय दबंगों के साथ खड़ी दिखी। गरीब की थाली रह गयी खाली और क्षेत्रीय दबंग मना रहे दिवाली। गरीब मजदूरों की थाली पर भी हुआ अत्याचार, अब तो नींद से जागिये सरकार।

Related News

Leave a Reply