Total Visitors : 1 9 3 1 4 2 1

बगैर फास्टैग लेन से गुजरने पर अधिक जुर्माना वसूला ...

 वाहन चालकों से दोगुना जुर्माना

राष्ट्रीय राजमार्ग के टोल प्लाजा पर फास्टैग सख्ती से लागू होने से वाहन चालकों को दोगुना जुर्माना देना पड़ रहा है। पांच दिन के भीतर ही आगरा से दिल्ली की ओर जाने वाले राजमार्ग पर टोल प्लाजा में 63 फीसदी तक वाहन फास्टैग से गुजर रहे हैं, जबकि आगरा-फिरोजाबाद, जयपुर, अलीगढ़ के राजमार्गों पर फास्टैग रायभा टोल को छोड़कर कहीं भी 50 फीसदी का आंकड़ा पार नहीं कर सका है। 

आगरा दिल्ली राजमार्ग पर महुअन टोल प्लाजा (फरह) पर फास्टैग का कलेक्शन 63.84 फीसदी रहा। वहीं कैश लेन पर 35.83 फीसदी का कलेक्शन हुआ। श्रीनगर टोल प्लाजा पर 66.40 फीसदी वाहन फास्टैग और 33.24 फीसदी कैश लेन से गुजारे गए। बगैर फास्टैग के फास्टैग लेन से गुजरने पर वसूले जाने वाले जुर्माने में इजाफा हो रहा है।

श्रीनगर टोल पर 12,9900 लाख रुपये जुर्माना वसूला गया तो महुअन टोल पर 9,8400 रुपये जुर्माना वसूला गया। भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) के फरीदाबाद खंड के परियोजना निदेशक मोहम्मद शफी ने बताया कि महज एक लेन में फास्टैग लागू होने के बाद तीन दिन के भीतर एक करोड़ रुपये से अधिक का जुर्माना वसूला गया है।
दूसरी ओर, आगरा जयपुर रूट के रायभा टोल प्लाजा, आगरा अलीगढ़ रूट के मडराक व बरोस, आगरा फिरोजाबाद रूट के टूंडला व गोरऊ टोल प्लाजा पर फास्टैग अभी तक अच्छी स्थिति में नहीं पहुंचा है। रायभा टोल पर ही फास्टैग कलेक्शन 68 फीसदी तक रहा। टूंडला टोल पर 40 फीसदी और अन्य टोलों पर भी 38 से 40 फीसदी वाहन ही फास्टैग लेन से गुजर रहे हैं। 

गलत फास्टैग लगाने वाले वाहनों से लग रहा जाम

भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) के अधिकारियों ने बताया कि फास्टैग लेन में ट्रक पर कार का फास्टैग लगाकर गुजरने वाले वाहनों को रोकने और जुर्माना वसूलने के कारण समय लग रहा है। लगातार इसी तरह की गलती करने वाले वाहनों को ब्लैक लिस्टेड भी किया जा रहा है। टोल प्लाजा के कर्मचारियों के प्रशिक्षित नहीं होने के कारण भी वाहनों को गुजारने में समय लग रहा है। 

फास्टैग रिचार्ज करने में लापरवाही

टोल प्लाजा पर फास्टैग रिचार्ज करने में दिक्कतें आ रही हैं। कहीं नेटवर्क समस्या के कारण रिचार्ज करने से इनकार कर रहे हैं। ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के राजपाल यादव का कहना है कि व्यवसायिक वाहनों को निश्चित समय सीमा के लिए फास्टैग देना चाहिए, ताकि टोल टैक्स का बोझ कम हो सके।

Related News

Leave a Reply