Total Visitors : 2 3 3 1 8 2 3

विवादित कमेंट कर बैठे कांग्रेस विधायक, ट्रोल होने पर दी सफाई ...

प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना साधने के चक्कर में....

"नमाज़ माफ़ करने गए थे रोज़े गले पड़ गए" वाली कहावत वर्तमान समय कांग्रेस सांसद जीतू पटवारी पर सटीक बैठती है। हुआ कुछ यूं बढ़ी हुई पेट्रोल डीज़ल की कीमतों के विरोध कर रही कांग्रेस द्वारा मध्यप्रदेश से पूर्व शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी ट्वीटर पर मोदी सरकार पर कटाक्ष करने में अपनी शब्दावली की सीमा लाँग बैठे और दे बैठे एक विवादित बयान, जिस पर वह जमकर सोशल मीडिया पर ट्रोल हुए।

नई दिल्ली:- अक्सर अपने बयानों और ट्विटर पर विवादित पोस्ट को साझा करने को लेकर सुर्खियों में रहने वाले कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी एक बार फिर विवादोंं में हैं। मंगलवार को पेट्रोल-डीजल की बढ़ी हुई कीमतों को लेकर उन्होंने एक ट्वीट किया। ट्वीट के जरिए उन्होंने मोदी सरकार को घेरने की कोशिश की, लेकिन खुद ही ट्रोल हो गए।

सोशल मीडिया यूजर्स ने जीतू पटवारी को सोच-समझकर लिखने और बोलने की नसीहत तक दे डाली। यूजर्स का कहना है कि जीतू पटवारी ने अपने ट्विटर पोस्ट में बेटियों का अपमान किया है। मंगलवार को कांग्रेस के पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने ट्वीट किया, 'पुत्र के चक्कर में 5 पुत्री पैदा हो गई! 1-नोटबंदी, 2-जीएसटी, 3-महंगाई, 4-बेरोजगारी और 5-मंदी। परंतु अभी तक विकास पैदा नहीं हुआ।

बेटियों की तुलना नोटबंदी, जीएसजी चीजों से करने पर सोशल मीडिया यूजर्स भड़क गए और जीतू पटवारी को कई तरह की सलाह दे डाली। ट्विटर यूजर्स इसे लेकर तरह-तरह की बातें लिख रहे हैं।

शब्दावली का प्रयोग करके सरकार की आलोचना करें

आम जनता के साथ एक पुलिस अधिकारी ने भी जीतू पटवारी को समझाया है। पुलिस अधिकारी प्रणव महाजन ने जीतू को रिट्वीट करते हुए लिखा, 'जीतू पटवारी जी, सरकार की आलोचना करना आपका अधिकारी है, परंतु मेरे अनुसार आपके द्वारा उदाहरण बहुत ही गलत संदेश देता है कि बेटियां हमारे लिए अप्रिय हैं। आपसे विनम्र निवेदन है कि आप इस ट्वीट को डिलीट करके सही शब्दावली का प्रयोग करके सरकार की आलोचना करें।


इतना ही नहीं कुछ ट्विटर यूजर्स जीतू पटवारी के साथ राहुल गांधी पर भी निशाना साध रहे हैं। सोशल मीडिया पर इस तरह से ट्रोल होने के बाद जीतू ने एक और ट्वीट किया और अपना पक्ष रखते हुए कहा, जहां तक बात बेटियों की है तो वो देवीतुल्य हैं। विकास की अपेक्षा के साथ मैंने एक ट्वीट किया है जिसे बीजेपी अपनी कमज़ोरियों को छिपाने के लिए उपयोग कर रही है। मैं अब भी कह रहा हूं कि “विकास” का पूरे देश को इंतजार है।

जानकारी के लिए बता दें कि जीतू पटवारी मध्यप्रदेश की कमलनाथ सरकार में उच्च शिक्षा मंत्री रह चुके हैं। इस ट्वीट से पहले जीतू ने पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ एक रैली निकाली थी। इस दौरान पूर्व मंत्री पटवारी ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि मोदी सरकार ने कहा था कि डॉलर रुपया एक बराबर होगा। लेकिन आज पेट्रोल डीजल एक बराबर हो गया है।

Related News

Leave a Reply