Total Visitors : 3 7 6 9 1 3 2

आरबीआई का 2000 रुपये के नोटों को धीरे धीरे वापस लेना शुरू  ...

 नोटबंदी के बाद मार्केट में आई थी ये करेंसी

नई दिल्ली-: बहुत जल्द आपको मार्केट से 2000 के नोट नहीं दिखेंगे। ऐसा इसलिए क्योंकि अब दो हजार के नोट छपने बंद हो गए हैं। दरअसल, रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) ने 2000 रुपये के नोटों को सिस्टम से धीरे धीरे वापस लेना शुरू कर दिया है। आरबीआई ने ऐलान किया है कि वित्त वर्ष 2021-2022 में 2000 रुपये के नए नोट नहीं छापे जाएंगे। पिछले साल भी आरबीआई ने 2000 रुपए के नए नोट नहीं छापे थे। आरबीआई ने अपनी एनुअल रिपोर्ट में यह जानकारी दी है। यह रिपोर्ट 26 मई 2021 को जारी की गई थी।

नोटबंदी के बाद लाया गया था ये नोट

बता दें कि नोटबंदी के ऐलान के बाद साल 2016 में 2000 रुपये का नोट लाया गया था, लेकिन बड़ी वैल्यू् का नोट होने की वजह से इसके फेक करेंसी मार्केट में जाने का खतरा भी ज्यादा रहता है। आरबीआई की एनुअल रिपोर्ट में बताया गया है कि फिस्कल ईयर 2021 में कुल पेपर कैश 0.3 फीसदी घटकर 2,23,301 लाख यूनिट रहे. वैल्यू के रूप में देखें तो मार्च 2021 में 4.9 लाख करोड़ रुपये के 2000 के नोट सिस्टम में थे, जबकि मार्च 2020 में इसकी वैल्यू 5.48 लाख करोड़ रुपये थी।

3 साल में 2000 के नोट काफी कम हुए

आरबीआई की रिपोर्ट के मुताबिक मार्च 2018 में 2000 के सिस्टम में 336.3 करोड़ नोट मौजूद थे, लेकिन मार्च 31, 2021 में इनकी संख्या घटकर 245.1 करोड़ रह गई है। यानी इन तीन सालों में 91.2 करोड़ नोटों को सिस्टम से बाहर कर दिया गया है।

500 रुपये अधिक चलन में है

रिपोर्ट के मुताबिक, 31 मार्च, 2021 तक चलन में मौजूद कुल बैंक नोटों में 500 और 2,000 रुपये के नोटों का हिस्सा 85.7 प्रतिशत था। जबकि 31 मार्च, 2020 के अंत तक यह आंकड़ा 83.4 प्रतिशत था। इसमें भी मात्रा के हिसाब से 31 मार्च, 2021 तक चलन में मौजूद नोटों में 500 रुपए के नोट का हिस्सा सबसे ज्यादा 31.1 प्रतिशत था। 

Related News

Leave a Reply