Total Visitors : 2 3 3 1 8 8 1

सऊदी अरब सरकार ने किया हज का रास्ता साफ ...

हज यात्रियों के लिए खुशखबरी

इस साल भी होगी सऊदी अरब में हज यात्रा, पिछले साल 18 लाख से ज्यादा लोगों ने हज यात्रा की थी। सऊदी अरब ने साफ कहा है कि हज यात्रियों को सामाजिक दूरी का पालन करना होगा। हर साल 20 लाख के करीब तीर्थयात्री सऊदी अरब हज के लिए आते हैं।

सऊदी अरब ने हज यात्रा की अनुमति दे दी है लेकिन बहुत सीमित संख्या में तीर्थयात्री मक्का-मदीना जा सकेंगे। अरब न्यूज के अनुसार, सऊदी अरब के हज और उमराह मंत्रालय ने कहा है कि कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर बेहद कम संख्या में लोग हज कर पाएंगे। एक दिन पहले ही सऊदी अरब ने कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर लागू किए गए देशव्यापी कर्फ्यू को खत्म कर दिया हैं। हज में विभिन्न देशों के तीर्थयात्री भी भाग लेंगे जो पहले से ही सऊदी अरब में हैं।

सऊदी अरब में भी कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। सोमवार तक यहां संक्रमितों की संख्या 161,005 हो गई, जबकि 1307 लोगों की मौत हुई है। सऊदी अरब में कोरोना का पहला मामला 2 मार्च को सामने आया था जिसके बाद अप्रैल और मई में इसकी रफ्तार काफी तेज हुई है।

सऊदी अरब में खुलीं सारी मस्जिदें

सऊदी अरब ने मस्जिदों में कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए श्रद्धालुओं को दिशा निर्देशों का कड़ाई से पालन करने को कहा गया है। मक्का में इस्लाम का सबसे पवित्र स्थल जनता के लिए बंद था। इसे 31 मई को खोला गया था। सऊदी अरब में सरकार ने 90,000 मस्जिदों को पुनः खोलने से पहले नमाज पढ़ने की कालीनों, शौचालयों और कुरान रखने के स्थान को सैनिटाइज करवाया।

नए नियमों के अनुसार नमाज पढ़ते समय दो मीटर की दूरी रखना, हर समय मास्क लगाना और हाथ मिलाना या गले लगने से परहेज करना आवश्यक है। पंद्रह साल से कम उम्र के बच्चों को मस्जिद में आने की अनुमति नहीं दी गई है। वृद्ध और बीमार लोगों को घर में नमाज पढ़ने को कहा गया है। लोगों से कहा गया है कि वे अनिवार्य रूप से घर से नहा धोकर आएं क्योंकि मस्जिदों के शौचालय बंद रहेंगे। लोगों को नमाज पढ़ने के लिए अपने कालीन लाने को कहा गया है और सैनिटाइजर का प्रयोग करने की हिदायत दी गई है। इसके साथ ही उन्हें कुरान की अपनी प्रति लाने को कहा गया है।

Related News

Leave a Reply