Total Visitors : 5 8 6 1 6 6 3

जंतर मंतर पर JEE मेन रिजल्ट में गड़बड़ी को लेकर किया प्रदर्शन ...

प्रदर्शन में देशभर के तमाम राज्यों के स्टूडेंट शामिल

दिल्ली-: एनटीए यानी नेशनल टेस्टिंग एजेंसी से गुहार लगाने स्टूडेंट्स आज दिल्ली में धरने पर बैठें। प्रदर्शन के दौरान स्टूडेंट्स ने JEE मेन रिजल्ट में बड़ी गड़बड़ी का आरोप लगाया। छात्रों की डिमांड हैं कि उन्हें फेयर चांस देते हुए JEE मेन की परीक्षा में बैठने का एक और अवसर दिया जाएं।

इससे पहले सुबह से ही स्टूडेंट्स जंतर मंतर पहुंचकर प्रदर्शन करते दिखे। बड़ी बात यह रही कि प्रदर्शन में देशभर के तमाम राज्यों के स्टूडेंट शामिल हुए। हालांकि सोशल मीडिया में जिस स्तर के प्रदर्शन का दावे किए जा रहे थे वैसा प्रदर्शन देखने को नहीं मिला।

स्टूडेंट्स का आरोप - '2021 से चल रहा स्कैम - एक संस्थान के छात्रों को मिल रही हैं

एनटीए पर सनसनीखेज आरोप लगाते हुए स्टूडेंट्स कह रहे है कि पहले सेशन में जिनका परसेंटाइल स्कोर बहुत कम था अगले सेशन में उन्हें 99 तक परसेंटाइल मिला। स्टूडेंट्स ने आरोप लगाया कि ऐसे सिर्फ एक- दो नही कई स्टूडेंट्स के साथ देखा गया हैं।

बड़ी बात यह है कि 2021 में ही ऐसे स्टूडेंट्स की लिस्ट सोशल मीडिया में वायरल हो रही हैं। यह सभी दिल्ली के किसी एक निजी कोचिंग संस्थान के ही बताएं जा रहे हैं।

इससे पहले वायरल स्कोर कार्ड में हरियाणा की एक स्टूडेंट के एनटीए स्कोर में पहले सेशन में मैथ्स में 0.3703006 का स्कोर हैं। वही दूसरे सेशन के स्कोर में यह 99.781 तक पहुंच गया है। इसी तरह टोटल स्कोर भी 0.707 से बढ़कर 99.397 तक पहुंच गया हैं।

एनटीए पर मढ़े संगीन आरोप, फिर से चांस देने की उठाई मांग

स्टूडेंट्स ने इसे एनटीए का नाम दिया है और सोशल मीडिया पर इसको लेकर लगातार कंपैन चला रहे हैं। लगातार एक फेयर एटेम्पट के लिए गुहार लगाई जा रही हैं। इस बीच स्टूडेंट्स ने पीएम और केंद्रीय मंत्री से लेकर सुब्रमण्यम स्वामी तक को इस स्कैम की शिकायत की हैं।

सॉल्वर गैंग एक्टिव होने की भी चर्चाएं

JEE मेंस में सॉल्वर गैंग के सक्रिय होने की भी खबरें हैं। इसकी एक टेलीफोन रिकॉर्डिंग सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। इसमें पटना में सक्रिय सॉल्वर गैंग के सदस्य स्टूडेंट्स को 6 लाख देकर 2 हजार रैंक दिलाने का दावा कर रहे हैं। गैंग के सदस्य एग्जामिनेशन सेंटर पर सेटिंग बताते हैं। स्टूडेंट्स को स्कोर के आधार पर NTA में एडमिशन कराने की बात कह रहे हैं।

इसमें IIT के करंट स्टूडेंट्स के जरिए पेपर सॉल्व कराकर स्कोर कार्ड देने का दावा किया जा रहा है। ये सब कुछ बिहार के कुछ चुनिंदा सेंटर पर होने की बात भी सामने आई है। इसका यूपी कनेक्शन अभी सामने नहीं आया है।

एनटीए पर यह भी लगे यह आरोप

बरेली के सिद्धि विनायक इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में 26 जुलाई को पहली शिफ्ट में JEE मेंस का एग्जाम देने पहुंचे अविरल महेश्वरी बताते हैं कि सेंटर पर पहुंचा तो वहां कई तकनीकी खामियां नजर आई। पहली बार जब सेंटर पर एंट्री हुई तो वहां लाइट नहीं आ रही थी, सिस्टम्स काम नहीं कर रहे थे और रजिस्ट्रेशन प्रोसेस नहीं हो पा रहा था।

करीब 20 मिनट इंतजार करने के बाद लाइट आई उसके बाद रजिस्ट्रेशन शुरू हुआ और सभी कैंडिडेट को कंप्यूटर अलॉट किए गए। 40 मिनट तक बिना किसी रूकावट के मैंने परीक्षा दी पर उसके बाद अचानक से मेरा पीसी अपने आप ही स्लीप मोड पर चला गया। लगभग 10 मिनट तक जद्दोजहद करने के बाद टेक्नीशियन की मदद से कंप्यूटर तो ऑन हुआ पर वो समय हमारा वेस्ट हो चुका था।

Related News

Leave a Reply