Total Visitors : 6 4 0 8 2 4

प्रोफेसर की पत्नी की सड़क हादसे में मौत ...

ट्रक चालक पुलिस के हवाले

कानपुरः बहन के तिलक का सामान खरीदने कानपुर आ रहीं पूनम सिंह (35) को बुधवार सुबह महाराजपुर के सिकठिया चौराहे पर तेज रफ्तार ट्रक ने रौंद दिया। इससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई। महाराजपुर के अलावलखेड़ा गांव निवासी स्वतंत्र सिंह फतेहपुर के बिंदकी में एक डिग्री कॉलेज में प्रोफेसर हैं। उनकी पत्नी पूनम सुबह करीब नौ बजे खरीदारी के लिए कानपुर आने को घर से निकली थीं। 

सवारी वाहन पकड़ने के लिए वह पैदल सिकठिया चौराहे पहुंचीं, तभी उन्नाव की ओर जा रहे तेज रफ्तार ट्रक ने रौंद दिया। पब्लिक ने चालक को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस के बुलाने पर भी ट्रक मालिक मौके पर नहीं आया। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है।

दो मासूमों के सिर से उठा मां का साया

पूनम की दो बेटियों में एक चार साल व दूसरी डेढ़ साल की है। वह इंटर कॉलेज में पढ़ाती थी। बच्चियों की परवरिश के लिए पूनम ने नौकरी छोड़ दी थी। पूनम के पिता फतेबहादुर सिंह ने कहा कि जिन बच्चियों की परवरिश के लिए वह इतनी फिक्रमंद थीं, उन मासूमों के सिर से मां का साया उठ गया।

बहन की शादी की जिम्मेदारी उठा रही थी

फतेहबहादुर ने बताया कि पूनम तीन बहन और दो भाइयों में सबसे बड़ी थी। पूनम और उसके छोटे भाई के हाथ पीले कर पाए थे। दूसरी बेटी सोनम की 16 फरवरी को बारात आनी है। गुरुवार को तिलक जाना था। बड़ी होने की वजह से पूनम ही शादी की पूरी जिम्मेदारी उठा रही थी। तिलक के लिए अपनी पसंद का सामान खरीदने निकली थी। पल भर में सारी खुशियां मातम में बदल गईं।

Related News

Leave a Reply